Category Archives: Career दिशा निर्देश [Blogs]

SALARY कैसे NEGOTIATE करें ?

SALARY कैसे NEGOTIATE करें ?

कितनी salary चाहते है आप ? कम बताएँगे तो काफी नुक्सान हो सकता है और बहुत ज्यादा बता दिया तो शायद interview से ही बाहर । पर थोड़ी सी research करके आप पता लगा सकते है की आपको कितनी salary मांगनी चाहिए। Salary.com, Glassdoor.com and PayScale.com इन websites पर देखिये की आपकी experience और job profile वाले को कितनी सैलरी इस वक़्त companies दे रहीं है । इसे आपको एक idea आ जायेगा की आपकी सैलरी minimum कितनी होनी चाहिए । तो उससे कम salary accept मत कीजिये ।

अगर आप एक ही कंपनी में काफी साल से काम कर रहें है तो आपकी salary market standard से कम होने के chances ज्यादा है क्योंकि एक ही company में हर साल अच्छा increment मिलना बहुत मुश्किल है । काफी companies interview के वक़्त सैलरी देते वक़्त current salary को ज्यादा महत्व देती है । तो अगर आपकी current salary market standard से कम है और आप market standard के हिसाब से hike चाहते है तो उस company को यह बताइये की क्यों आप ज्यादा salary के काबिल है । जैसे आप कह सकते है की आपका experience ज्यादा है या आपके skills काफी बेहतर है । जब तक सामने वाली company आपको जॉब offer नहीं करती तब तक salary का ज़िक्र मत कीजिये yaani last round jo HR ka hota hai usi me salary ki baat karen. Haan agar pahle salary bataane par zor diya jaa raha hai to kahiye mai is position ke hisaab se best expect kar raha hun ya ek range bata dijiye । salary अगर market standard के हिसाब से काफी कम है तो यह बात सभ्य तरीके से उन्हें बताइये । अगर आपके काफी समझाने पर भी comapny आपको सैलरी बढ़ाकर नहीं दे रही तो दूसरे benefits में बढ़त मांगिये जैसे health insurance parents के लिए, घर से काम करने की सुविधा वग़ैरा ।

आप चाहें तो कम salary accept कर सकते है अगर आपको लगता है की आपकी current कंपनी उसके बदले आपको सैलरी बढ़ा सकती है । अगर पहले किसी को आपकी company ने resignation के वक़्त सैलरी बढ़ा कर दी है तो chances है की आपको भी बढ़ा कर मिल जाए ।

जल्दी promotion पाने के कुछ tips

jaldi-promotion-paane-ke-kuch-tips

संतोष एक कंपनी में ५ साल से काम कर रहा है । वह अपना काम बहुत अच्छे से करता है और ज्यादा घंटे ऑफिस में बिताता है । पर इसके बावजूद भी संतोष को २ साल से promotion नहीं मिल रहा । उसके दोस्त रमेश को promotion मिल गया जो overtime भी नहीं करता । ऐसा क्यों हुआ । हालांकि सफलता के लिए मेहनत करना सबसे ज़रूरी है इसके अलावा भी ऐसी कुछ चीज़े हैं जो ज़रूरी है ।

१. सीखने की जिज्ञासा रखें – आपने school और college में काफी सीख होगा । पर सीखने की जिज्ञासा से आप अपने आस पास की चीज़ों से सीख सकते है । अपनी company के culture और values के बारे में जाने । सीखने की जिज्ञासा होगी तो आप company के भविष्य के बारे में भी जान सकते है और आप उस हिसाब से मेहनत कर सकते है जिससे आपकी company को फायदा होगा और कंपनी आपको notice करेगी ।

२ सभी काम आसान नहीं होते – कुछ काम आपको एक challenge देते है । आप शायद उस काम में सफल ना हो पाएं पर वापस कोशिश करके उसे अच्छी तरह करेंगे तो सफलता आपके कदम ज़रूर चूमेगी । द्रढता और एक plan के साथ फिर से कोशिश करें ।

३. Leader बनिए – लीडर बनिए और एकजुट होकर अपने team के साथ काम करिये । अपनी टीम की मेहनत की सराहना करें । अपनी team के हर member को ऐसा काम दीजिये जो उनके अंदर का best सामने ला सके ।

४ भविष्य के बारे में सोचें – आपकी performance आपके पर्सनल rating को अच्छा कर रहीं है पर यह कंपनी को किस तरह से मदद कर रहीं है । कोशिश करें की आपके अच्छे काम का असर कंपनी की growth पर पड़े । business minded approach लेकर काम करेंगे तो फायदा होगा सिर्फ एक machine की तरह रात दिन काम करने से नहीं । याद रखिये आपकी growth आपकी कंपनी की growth पर निर्भर है ।

५ ज़िम्मेदारी लें – अगर आप सफल होते है तो आपकी पूरी team को credit मिलता है पर अगर आप किसी target को achieve करने में असफल होते है तो खुद ज़िम्मेदारी लीजिये असफलता का । जो भी गलती हुई है उसे सुधारने के लिए ज़रूरी कदम उठाएं । याद रखिये senior बनने पर आपकी ज़िम्मेदारियाँ बढ़ जाती है ।

६ परिस्थिति के अनुसार अपने आपको बदलिए – market में इस वक़्त किन चीज़ों की ज़रूरत है इससे अवगत रहिये । आपको राजनितिक, टेक्नोलॉजी और इकनोमिक हालात के अनुसार अपने आप को बदलना होगा । senior position में पहुँचने के बाद जल्दी अपने आपको हालात के अनुसार बदलना बहुत ही ज़रूरी हो जाता है ।

७ नैतिकता रखिये – चाहे जो भी हो अनैतिक चीज़ें ना करें । याद रखिये आपको आपके कंपनी में जो लोग है उनके लिए एक अच्छी मिसाल बनना है ।

Job Interview ke tips

जॉब इंटरव्यू काफी लोगों को tension दे देता है । आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएँगे जो आपको आपके जॉब इंटरव्यू में सफल होने में मदद करेंगे ।

१. research करें कंपनी, job profile और इंटरव्यू लेने वाले मेनेजर के बारे में –
आपको सबसे पहले employer यानी आपकी कंपनी की reuirement को समझना होगा । उन्हें जो चाहिए वही आपको देना है । इसलिए company की वेबसाइट पर पहले उसके about section को पढ़े । उसके कुछ latest publications, news भी पढ़े जिससे आपको अभी उस company में क्या चल रहा है पता लगेगा ।
जिस role के लिए आपने apply किया है उसकी हर एक requirement को पढ़ लीजिये जॉब profile में ।
अगर आपको interview लेने वाले manager का नाम पता है तो एक बार linkedin में search कर लें । इससे यह पता चलेगा की उसे किस चीज़ में ज्यादा experience है । उस हिसाब से आप अपनी तैयारी कीजिये ताकि interviewer के सवालों के जवाब आप अच्छी तरह दे सकें

२ Interview के सवालों को review करें –
www.glassdoor.com पर उन लोगों के reviews पढ़ें जिन्होंने इस company में इंटरव्यू पहले दिया हुआ है । आपको glassdoor पर काफी companies के reviews मिल जायेंगे। इसमें candidates अपने interview के experience को share किआ है और कुछ interview के सवाल भी मिल जायेंगे । इन्हें पढ़कर आपको एक अच्छा idea मिल जायेगा की इस कंपनी का interview कैसा होता है और किस तरह की preparation करनी पड़ेगी ।

३ अच्छी dressing करें – कुछ companies में smart casual dressing allowed होती है । पर कोशिश करें की हर कंपनी में फॉर्मल पहन कर ही जाए क्योंकि काफी सारी companies में formals ही पहनते है इंटरव्यू के वक़्त। कपडे अच्छे से इस्त्री किये होने चाहिए । नाख़ून कटे हुए । बाल अच्छी तरह से comb किये हुए । jewellery और accessories कम से कम पहने । interview से पहले cigarette smoke ना करें और हो सकते तो तुरंत पहले कुछ खायी मत । दांत अच्छे से brush कर लीजिये या mouthwash का इस्तेमाल कर लें ।

४. time पर पहोंचे, आराम करें –
अपने interview के १५ मिनट पहले पोहोंचे । जो भी paperwork हो उसे ख़तम करें और settle हो जाएँ । जल्दी आने से आप office का हाल भी देख सकते है । interview की पहले वाले दिन अपना resume की copies, pen और notebook bag में रख लें ताकि इंटरव्यू के दिन भूल न जाएँ । ऑफिस के अंदर पहूंचते ही अपना phone silent पर दाल दें

५. confidence के साथ बात करें –
interview शुरू हो जाने पर जो भी सवाल आपसे पूछे जायेंगे उसका सही जवाब दीजिये कॉन्फिडेंस के साथ और अगर किसी सवाल का जवाब नहीं पता तो विनम्रता से कहें की आपको नहीं पता जैसे sorry i dont know. हमेशा to the point जवाब दें । जो भी सवाल होगा आप उसके आगे पीछे की लंबी कहानी सुनाने मत बैठ जाइये । interviewer इससे irritate हो सकते है । इसलिए अपना जवाब सरल और सवाल के दायरे तक ही रखें ।

६ अपने अभी के boss, company या colleague के बारे में कुछ भी बुरा ना कहें – चाहे आपका boss company या कोल्लेअगुएस चाहे जितने भी बुरे हो पर interview में उनकी बुराई बिलकुल भी न करें। यह बहुत बुरा impression छोड़ता है आपका ।

७. body language यानी शारीरिक भाषा पर ध्यान दें – अगर आप interesting चीज़े नीरस तरीके से कहेंगे तो सुनने वाले को बिलकुल भी अच्छा नहीं लगेगा । इसीलिए जहाँ ज़रूरत हो वहां smile, eye contact, गर्दन हिलाना, हाथ हिलाना यह सब करें । पर ध्यान रहे यह naturally आना चाहिए । तो इसीलिए आपको इसकी प्रैक्टिस इंटरव्यू के पहले की कर लेनी चाहिए ।

Job छोड़ते वक़्त यह पांच चीज़े करें ।

कभी कभी नौकरी छोड़ने के उत्साह में हम कुछ गलतियां कर बैठते है अनजाने में और अपना career risk में डाल देते है । आपने अपनी नौकरी छोड़ने का मन बना लिया है तो इन चीज़ों का ध्यान ज़रूर रखें

१. Direct resignation email ना करें पहले अपने manager से बात कीजिये – कुछ freshers या थोड़े experienced लोग भी नौकरी मिलते ही सीधे से resignation email कर देते है बिना अपने manager से बात किये । यह आपका बहुत ही बुरा impression छोड़ता है। ऐसा मत सोचिये की अब इस company में नहीं आना तो कुछ भी कर सकते है । हो सकता है इस कंपनी का कोई सीनियर आगे जाकर आपको किसी दूसरी कंपनी में मिले, उस वक़्त आपकी छवि उसके सामने अच्छी होनी चाहिए । जो भी हो आप नौकरी छोड़ते वक़्त सबसे पहले काम है अपने manager और अगर manager छुट्टी पर हो तो जिसको भी आप रिपोर्ट कर रहें हो उसे यह बताना की आप नौकरी छोड़ना चाहते है ।

२. Retention के वक़्त सभ्यता से बात करें – अगर company आपको retain यानी पैसे बढ़ा कर रोकने की कोशिश कर रही है तो उनसे सभ्यता से बात करें और मना भी सभ्यता से करें। ऐसा बिलकुल ना दिखाए की आपको अब किसी चीज़ की कोई परवाह नहीं ।

३. अच्छा reputation बनाकर जाएँ – अपने notice period में भी अपना काम अच्छी तरह करें । किसीको कोई शिकायत का मौका न दें । याद रखिये आपका एक गलत व्यवहार कंपनी में आपकी reputation को नष्ट कर सकता है ।

४ . अपने manager या boss के साथ अच्छा सम्बंध रखें – नौकरी छोड़ने की ख़ुशी में काफी बार हम्मे attitude आ सकता है जिससे हम अपने boss से ठीक से बात नहीं करते । ऐसा नहीं करना चाहिए । याद रखिये हो सकता है आपको इस कंपनी में या अपने boss के साथ दोबारा काम करना पड़े ।

५ . Company की जो भी चीज़ें हो वह लौटा कर जाए – company ने जो चीज़ें आपको दी है जैसे laptop, headphone, data plug, या कोई cd उसे ज़रूर लौट कर जाए। कोई भी चीज़ अपने साथ लेकर न जाए । company हमेशा आपको जो भी चीज़ें देती है उसका track रखती है । तो ऐसा ना सोचे की company को पता नहीं लगेगा की आपके पास कोण कोनसी चीज़े है जो उन्होंने दी हुई है ।

खुद का Business शुरू करते समय यह चीज़े ज़रूर करें ।

कोई भी बिज़नस एक idea यानी सोच से शुरू होता है पर सोच से भी ज्यादा महत्त्वपूर्ण है उसका कार्यान्वयन यानी implementation । कहना आसान है पर करना मुश्किल इसलिए सबसे पहले तो जो भी काम हो उसका विभाजन यानी break down करें। हम आपको आज ६ चीज़े बता रहे है जो आपको बिज़नस शुरू करते समय करनी है ।

१. Business plan बनाए – business क्या किसी भी महत्त्वपूर्ण चीज़ के लिए plan बहुत ज़रूरी होता है । एक सादा business plan बनाए शुरू करने के लिए । कोशिश करें business plan को १ से २ page में ही लिखने की। शुरू में ज्यादा निवेश यानी investment वाला business plan ना बनाए । हमें सबसे पहले market को test करना है इसलिए कम budget को ध्यान में रखकर ही business plan बनाए ।
business plan में ये चीज़े होनी चाहिए
१. Executive Summary यानी कार्यकारी सारांश – यह एक छोटा सा सारांश होगा आपके business के बारे में जो आपके पूरे plan को कुछ lines में समझायेगा पढ़ने वाले को । यह लगभग आपके पूरे page का ५-१० % होगा ।
२. mission statement यानी मिशन वक्तव्य लिखे – यह कुछ वाक्य होंगे जिनमे आप बताएँगे की आपके business का मकसद क्या है । ऐसी कौनसी problem है जिसका solution आपका business देने वाला है । profit कमाना तो सभी business का मकसद होता ही है पर दोस्तों इसमें आपको बताना है की आपका business क्या हासिल करना चाहता है जैसे आपने motorcycle की बिज़नस शुरू की तो आप लिख सकते है की आपके बिज़नस का मकसद है अपंग लोगों को बेहतरीन motorcycle प्रधान करना जो वह आसानी से चला पाए ।
३ business description यानी व्यापार विवरण – या कुछ lines की होगी जो आपके business को समझा पाए ।
४ SWOT analysis – SWOT का full form है S – Strengths यानी ताकत – आपके बिज़नस में क्या ताकत है जो आप इस्तेमाल कर सकते है । Weaknesses यानी कमज़ोरी – आपके business की कमज़ोरियाँ क्या क्या है ।
Opportunities यानी मौके – आपके business में ऐसे कौन कौनसे मौके है जिनका इस्तेमाल करनके आप अपने प्रतिध्वंधियों से आगे निकल सकते है ।
Threats यानी डर – आपको आपके प्रतिद्ववंदियों की कौनसी चीज़ों से डर है ।
५ competitor analysis अपने प्रतिद्ववंदियों का विश्लेषण
६ market analysis market का विश्लेषण
७ marketing plan – आपके बिज़नस का marketing plan क्या होगा
८ operations plan – यानी आपकी company में कौन लोग क्या चीज़ें करेंगे ।
९ financial plan यानी वित्तीय का plan – पैसा किन चीज़ों में कितना लगेगा इत्यादि
१० management summary – आपके मैनेजमेंट में कौन कौनसे positions होंगे ।

२. budget decide करें – शुरू में अपना budget कम रखें । जो भी चीज़े चाहिए होंगी business शुरू करने के लिए उसका एक list बनाये जैसे computer, printer, telephone, office की जगह। और पैसे reserve भी रखें ताकि आपातकालीन समय में आपका business ठप ना हो ।

३. पैसे ध्यान से खर्च करें – कभी कभी business ज्यादा खर्च आ जाने पर हमें पता नहीं चल पाता की इसमें हम personal account से पैसे दे रहे है । ऐसी नौबत आने ना दे की आपको personal account से पैसे किसीको देना पड़े । कोई bookkeeping software इस्तमाल करें या हो सके तो एक accountant रखें जो आपके business का पूरा हिसाब खिताब रखे taxes के साथ।

४ branding करें – अपनी company का logo बनवाए और उसके colors के हिसाब से अपना business card भी बनाए ।

५. website बनवाए – जो भी आपका business हो छोटी websites तो आज कल सस्ते में बन जाती है । website बहुत ज़रूरी होता है क्योंकि इससे आपके customers को तुरंत आपके business की जानकारी online प्राप्त हो जाती है । website के साथ साथ आप अपना facebook twitter और linkedin पेज भी बनाए ताकि आप social media पर लोगों को दिखें ।

६ भविष्य में आपके business में क्या करेंगे यह सोचे – अपने business और प्रतिद्ववंदियों को जाने और यह सोचें की भविष्य में आप अपने business को और बढ़ा कर कैसे सफल होंगे ।

तो दोस्तों यह थी कुछ चीज़े जो बिज़नस शुरू करते समय हमें करनी चाहिए । और भी जानकारी से भरे videos की notifications के लिए इस channel को subscribe ज़रूर करें।

Career विकल्प web developer

दोस्तों जीवन में करियर के कई विकल्प है और हर इंसान में अपनी प्रतिभा होती है जिससे उन्हें अपना करियर चुनना चाहये।
करियर के अनेक विकल्पों से कुछ विकल्प और उनके विस्तार हम आपको बता रहें हैं ।

१. WEB DEVELOPER:
वेब डेवलपर web technologies के जरिये websites, web applications बनाते है |

वेब डेवलपर बनने के लिए वेब टेक्नोलॉजीस सीखना होता हैं HTML, CSS, JavaScript इत्यादि।

Eligibility पात्रता: Graduation अगर कंप्यूटर क्षेत्र में है जैसे BSCIT BCA BE BTECH किया हो तो बेहतर होता है पर आपने दूसरे ग्रेजुएशन कोर्स करके भी इसमें करियर बना सकते है । जैसे bcom ba bsc इत्यादि ।
करियर में और आगे बढ़ने के लिए आप MBA IT MCA ईत्यादि कर सकते है ।

सैलरी : शुरुवात में २-३ लाख सालाना। ५ साल के अनुभव के बाद ८-१२ सालाना कमा सकते है

भविष्य : शुरुवात वेब डेवलपर के तौर पर करने के बाद कुछ साल एक्सपेरिएंस लेकर सीनियर पद पर पोहोच सकते है जैसे प्रोजेक्ट लीडर प्रोजेक्ट मेनेजर UI architect